To checkout total: ₹ 0.00

                      श्री पथमेड़ा गोधाम महातीर्थ द्वारा संचालित भूमण्डल की प्रथम व सबसे बड़ी नन्दीशाला "

                                              श्री महावीर हनुमान गोशालाश्रम, गोलाशन

      हमारी सनातन भारतीय संस्कृति में नन्दी को धर्म का स्वरूप माना गया है । धर्म स्वरूप नन्दियों के संरक्षण हेतु श्री पथमेड़ा गोधाम द्वारा स्थापित तथा संचालित जागृत शिवतीर्थ भूमण्डल की प्रथम व सबसे बड़ी नन्दीशाला महावीर हनुमान गोशालाश्रम, गोलाशन की स्थापना भगवान शिव की प्रेरणा से ही हुई है । अस्तु!
      इस नन्दीशाला की स्थापना का प्रधान उद्देश्य यही है कि गाय की सेवा तो गोपालक किसान करते हैं परन्तु नर गोवंश का वर्तमान में किसानी की दृष्टी से कोइ उपयोग नहीं रहा है क्योंकि खेती एवं परिवहन में बैल का कोइ उपयोग नहीं रहा है । इस कारण गोपालक किसान नर गोवंश को निराश्रित भगवान भरोसे छोड़ देते हैं । ये नर गोवंश यत्र - तत्र भूखा - प्यासा भटकता हैं तथा यही गोवंश चोरी चुपके क्रूर कसाईयों के हाथों से कत्लखानों में पहुँचता है । इन्हीं गोवंश को आश्रय देने के लिये इस नन्दीशाला  की स्थापना की गई है । वर्तमान में 14,496 से अधिक नर गोवंश की दिव्य भाव से आदपूर्वक सेवा की जा रही हैं । आप सभी महानुभावों से विन्रम निवेदन है कि आप इस शिवतीर्थ नन्दीशाला के दर्शनार्थ अवश्य पधारें ।

No products matching your criteria have been found.

up
Shop is in view mode
View full version of the site
Ecommerce Software